9 दिन में पुलिस ने नहीं की नामजद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई ,पंजाबी समाज ने सौंपा एसडीएम को ज्ञापन

9 दिन में पुलिस ने नहीं की नामजद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई ,पंजाबी समाज ने सौंपा एसडीएम को ज्ञापन

मरुधर विशेष आमिर खान कामा
कामां- कामां कस्बे के कुट्टी मौहल्ला निवासी संजीव उर्फ बंटी गुलाटी द्वारा 27 अप्रैल को अपने घर के ही एक कमरे मे कर्जदारी से तंग आकर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या के मामले में पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज होने के बावजूद नौ दिवस बीत जाने के बाद भी नामजद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है जिससे परिजनों व पंजाबी समाज में आक्रोश व्याप्त है पुलिस की कार्रवाई के प्रति असंतोष जताते हुए पंजाबी समाज के लोगों ने कमल अरोड़ा के नेतृत्व में कामां एसडीएम दिनेश शर्मा को जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की|
जिला कलेक्टर के नाम सौंपा गया|
ज्ञापन में बताया गया कि कर्जदारी से तंग आकर कामा कस्बे के कुट्टी मोहल्ला निवासी संजीव उर्फ बंटी गुलाटी पुत्र चानन दास गुलाटी ने फांसी का फंदा लगाकर 27 अप्रैल को आत्महत्या कर ली थी मौके पर पहुंची कामां पुलिस ने घर के कमरे से सुसाइड नोट भी बरामद किया था जिसमें मृतक द्वारा आत्महत्या के लिए मजबूर करने तीन लोगों के नाम लिखे हुए थे सुसाइड नोट के आधार पर तीन लोगों को नामजद करते हुए घटना का मामला मृतक संजीव गुलाटी की पत्नी रजनी गुलाटी ने कामां थाने में दर्ज कराया घटना को नौ दिवस बीत जाने व पीड़ित के परिजनों द्वारा बयान दर्ज कराने के बावजूद भी पुलिस द्वारा अभी तक नामजद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं जिससे मृतक के परिजनों व पंजाबी समाज में रोष व्याप्त है मामले में पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग को लेकर पंजाबी समाज के सैकड़ों लोगों ने व्यापार महासंघ के अध्यक्ष कमल अरोड़ा के नेतृत्व में कामा एसडीएम दिनेश शर्मा को ज्ञापन सौंपकर तीन दिवस में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की| ज्ञापन देने वालों में तिलक अरोड़ा ,पवन गुलाटी, डॉ रविंन्द्र तरगोतरा, सरदार साधु सिंह सहसन,चरन अरोड़ा, राजेश गुलाटी, दयाल सरदार ,गोविंद सरदार लक्की गुगलानी,रमेश गुलाटी, रमेश खुराना अशोक अरोड़ा सहित पंजाबी समाज के दर्जनों लोग मौजूद थे|
फोटो -एसडीएम को ज्ञापन देते पंजाबी समाज के लोग