दिल्ली में अब शुरू हुई पोस्टर जंग दिल्ली में अब केजरीवाल के खिलाफ लगे पोस्टर, आम आदमी पार्टी करेगी बड़ा विरोध प्रदर्शन

दिल्ली में अब शुरू हुई पोस्टर जंग दिल्ली में अब केजरीवाल के खिलाफ लगे पोस्टर, आम आदमी पार्टी करेगी बड़ा विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली संवादाता पवित्रा शर्मा

दिल्ली में भाजपा और कांग्रेस के बीच पोस्टर वार जारी है। एक दिन पहले आम आदमी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ पोस्टर लगाने की कोशिश की तो दिल्ली पुलिस ने एक्शन लिया।6 आरोपियों को गिरफ्तार किया और 100 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

अब दिल्ली पुलिस की इस कार्यवाही के खिलाफ आम आदमी पार्टी बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है। जंतर-मंतर पर होने वाले इस प्रदर्शन में अरविंद केजरीवाल भी शामिल होंगे। इस बीच, गुरुवार को दिल्ली में आम आदमी पार्टी के कार्यालय के सामने ‘केजरीवाल हटाओ, देश बचाओ’ के पोस्टर लगाए।

पोस्टर विवाद, जानिए क्या है कहानी

दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर अवैध पोस्टर चस्पा करने के मामले में पुलिस ने 150 एफआईआर दर्ज की हैं, जिनमें 36 एफआईआर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर से संबंधित हैं। पुलिस ने सोमवार और मंगलवार, दो दिन तक पूरी दिल्ली में अभियान चलाकर अवैध पोस्टर चस्पा करने के मामले में यह कार्रवाई की है।

छह आरोपित गिरफ्तार किए गए हैं, जिनमें प्रिटिग प्रेस के दो मालिक, मारुति वैन का चालक और पोस्टर चस्पा करने वाले तीन कर्मचारी शामिल हैं। सभी को थाने से ही जमानत पर छोड़ भी दिया गया है।

पुलिस ने संपत्ति बदरंग अधिनियम के साथ ही प्रेस एवं रजिस्ट्रेशन ऑफ बुक्स अधिनियम के तहत यह कार्रवाई की है। विशेष आयुक्त (कानून व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक का कहना है कि दिल्ली पुलिस समय-समय पर इस तरह की कार्रवाई करती रहती है। कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

पुलिस ने एक राजनीतिक पार्टी के कार्यालय से अवैध पोस्टर लेकर राजधानी में सार्वजनिक जगहों पर चस्पा करने के लिए जा रही एक मारुति वैन को भी जब्त किया है। वैन में हजारों की संख्या में पोस्टर मिले हैं।

बरामद पोस्टरों पर कहीं भी प्रिटिग प्रेस का नाम नहीं लिखा है। पाठक ने कहा कि आर्थिक, राजनीतिक, सामाजिक या अन्य किसी भी विषयवस्तु को लेकर अधिनियम के तहत कार्रवाई करना दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी है।

अधिनियम के अनुसार, हर पोस्टर, पर्चे व बैनर पर मुद्रक का स्पष्ट विवरण होना कानूनी रूप से अनिवार्य है। ऐसा न करने पर संपत्ति बदरंग अधिनियम के अलावा प्रेस एवं रजिस्ट्रेशन आफ बुक्स अधिनियम के तहत दंडात्मक कार्रवाई करने का प्रविधान है।