दौसा के रोहित शर्मा हुए नेशनल अवार्ड से सम्मानित*
राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने दिया एक्सिलेंस अवार्ड

*दौसा के रोहित शर्मा हुए नेशनल अवार्ड से सम्मानित*
राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने दिया एक्सिलेंस अवार्ड

मरूधर हिंद/अनिल पारीक

दौसा । शनिवार को जयपुर के एक पाँच सितारा होटल में 190 देशों को जोड़ने वाले ग्लोबल इंडिया बिज़नेस फ़ोरम द्वारा आयोजित हुए ‘नेशनल एम.एस.एम.ई अचार्डस 2022’ फ़ोर बिजनेस एक्सिलेंस में जयपुर के चायवालास को “इन्नोवेटिव स्टार्टअप ओफ़ दा ईयर “ के अवार्ड से सम्मानित किया गया ।
कार्यक्रम के मुख्यअतिथि राजस्थान के माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र और जयपुर सांसद श्री रामचरण बोहरा ने इस दौरान चायवालास के फ़ाउंडर और सी.ई.ओ, रोहित कुमार शर्मा को यह अवार्ड देकर सम्मानित किया और चायवालास को वैश्विक स्तर पर ले जाने की शुभकामनायें दी ।

*6 देशों के राजदूतों ने किया सम्मान*

इस दौरान नाईजेरिया, कोस्टा रिका, तोबाग़ो, तंजानिया, जमाइका और क्यूबा देश के राजदूतों ने भी रोहित का कम उम्र में एक सफल स्टार्टअप खड़ा करने के लिए सम्मानित किया और उन्हें अपने देश में अपना स्टार्टअप लेकर आने के लिए आमंत्रित किया ।

*कम उम्र में खड़ा किया स्टार्टअप*

दौसा के निवासी रोहित कुमार शर्मा ने महज़ 25 वर्ष की आयु में चाय बेच कर चायवालास के नाम से एक स्टार्टअप खड़ा किया । अपने हुनर और चाय के स्वाद से देखते ही देखते रोहित प्रदेश की फ़ूड और होटल इंडस्ट्री में विख्यात हो गये । रोहित पूर्व में भी रेड एफ एम ठप्पा अवार्ड, एक्सिलेंस इन टी एंड कोफ़ी राजस्थान एक्सिलेंस अवार्ड सहित अनेको बड़े अवार्डस पा चुके है । हाल ही में जयपुर चौपाटी के लिए आयोजित मूल्यांकन प्रतियोगिता में रोहित जयपुर के कई दशकों से चले आ रहे चायवालों को हरा कर जीत हाँसिल की । यहीं नहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिडला, केबिनेट मंत्री महेश जोशी, केबिनेट बृजकिशोर शर्मा, भाजपा नेता अशोक परनामी, पूर्व मंत्री अरुण चतुर्वेदी, जयपुर सांसद रामचरण बोहरा, विधायक अशोक लाहौटी, राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी, बोलिवुड एक्टर विकल्प मेहता, श्रवण सागर सहित अनेको नेता अभिनेता और सितारे यहाँ आ चुके है ।

*युवाओं को उद्यमी बनने को कर रहे प्रेरित*

रोहित अपनी सफलताओं का श्रेय अपनी विफलताओ को देते है । उनका कहना है की काफ़ी संघर्षो और विफलताओं के बाद वो आज इस मुक़ाम पर है । अपने इस संघर्ष के अनुभवो के आधार पर वो युवाओं को एक एंटरप्रेन्योर बनने के लिए प्रेरित कर रहे है । रोहित ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपनी विफलताओं, उनके आराध्य श्री खाटूशयाम जीं, अपने परिवार और उनके आइडल आइ.एस पवन अरोड़ा को दिया है ।