शायरी

आनंद विशेष शर्मा पास  से पहले की दूरी  हैआखिर  कैसी  मजबूरी  है !..जिसको खोज रही हो सुनलोप्रेम   हमारा  कस्तूरी  है !.